विराट कोहली आ चुके है अब जाकर अपने असली रंग में, लगा दिया कई सालो के इंतज़ार के बाद कोहली ने अब शतक सामने आई बड़ी खबर


रोहित शर्मा की कप्तानी में भारतीय टीम एशिया कप से पहले ही बाहर हो चुकी है लेकिन सुपर 4 के आखिरी मुकाबले में भारतीय टीम का मुकाबला अफगानिस्तान से था जिसमें रोहित शर्मा ने खुद आराम करने का फैसला लिया जिसके कारण टीम की कप्तानी सलामी बल्लेबाज लोकेश राहुल ने संभाली। भारतीय टीम में 3 बड़े बदलाव किए गए जिसके कारण दिनेश कार्तिक, दीपक चाहर और अक्षर पटेल की टीम में वापसी हुई। टॉस जीतकर अफगानिस्तान ने पहले गेंदबाजी करने का फैसला लिया जो उनके लिए बहुत ही बड़ा गलत फैसला साबित हुआ क्योंकि सलामी बल्लेबाज के रूप में उतरे विराट कोहली ने लगभग 1000 दिनों के बाद अपने शतक के सूखा को समाप्त  करते हुए अपना वही पुराना अवतार दिखाया जिसके लिए वह पहचाने जाते हैं। आइए बताते हैं कैसे विराट कोहली ने अपने ढाई साल के इंतजार के बाद अफगानिस्तान के खिलाफ वह शतक जड़ दिया जिसका इंतजार पूरे भारत को था.

कोहली ने अफगानिस्तान के खिलाफ समाप्त किया अपने शतक का सूखा, ढाई सालों बाद दिखाया मैदान पर पुराना अंदाज

रोहित शर्मा के आराम करने की वजह से भारतीय टीम की कप्तानी लोकेश राहुल को मिली थी लेकिन टॉस अफगानिस्तान के कप्तान मोहम्मद नबी ने जीती। मोहम्मद नबी ने टॉस जीतकर पहले गेंदबाजी करने का फैसला लिया और रोहित शर्मा के आराम करने की वजह से भारतीय टीम एक नई सलामी जोड़ी के साथ मैदान में उतरी। लोकेश राहुल के साथ मैदान में विराट कोहली सलामी बल्लेबाज के रूप में नजर आए और पहली गेंद से ही विराट कोहली ने यह दिखा दिया कि आज वह अपने शतक के सूखे को समाप्त करने आए हैं। विराट कोहली ने अपनी पारी में सिर्फ 61 गेंद खेलते हुए 122 रनों की तूफानी पारी खेली जिसकी बदौलत भारतीय टीम ने 212 रनों का विशाल स्कोर खड़ा किया। आइए बताते हैं कैसे विराट कोहली के शतक की बदौलत भारतीय टीम ने एशिया कप का समापन बहुत ही शानदार ढंग से किया.

कोहली के शतक के साथ समाप्त हुआ भारतीय टीम के एशिया कप का सफर, लगा दी फिर से दहाड़

विराट कोहली ने सुपर 4 के आखिरी मुकाबले में अफगानिस्तान के खिलाफ सिर्फ 61 गेंदों में 122 रनों की तूफानी पारी खेली। विराट कोहली ने अपनी इस रिकॉर्ड सेंचुरी में 12 चौके और 6 बड़े छक्के लगाए। विराट कोहली की पारी का ही नतीजा था कि भारतीय टीम ने इस एशिया कप में अपना सबसे बड़ा स्कोर खड़ा कर दिया। 213 रनों के लक्ष्य का पीछा करने उतरी अफगानिस्तान की टीम शुरुआत से ही दबाव में रही और निर्धारित 20 ओवरों में वह विराट कोहली के पारी की बराबरी भी नहीं कर सकी। अफगानिस्तान की टीम निर्धारित 20 ओवरों में 8 विकेट गंवा कर 111 रन ही बना सकी जिसके कारण भारतीय टीम ने 101 रनों के बड़े अंतर से यह मुकाबला जीत लिया। भारतीय टीम की तरफ से गेंदबाजी में भुवनेश्वर कुमार ने सिर्फ 4 रन देकर 5 विकेट झटके। विराट कोहली को उनके रिकॉर्ड तोड़ शतक के लिए मेंन ऑफ़ द मैच के खिताब से नवाजा गया।



Leave a Comment